June 13, 2024

हर मामले में एक कदम आगे अमेरिका- मोहन मदवानी

बिलासपुर/ अनिश गंधर्व। शहर के वरिष्ठ पत्रकार व बिलासपुर प्रेस क्लब के सदस्य श्री मोहन मदवानी अपने पुत्र-वधु से मिलने सात समंदर पार अमेरिका के मलीसा बिलासपुर लौटे। उन्होंने बताया कि कोई भी पर्व यहां धूमधाम से मनाया जाता है। भारत के सभी प्रांत के लोग आकर यहां काम कर रहे हैं। चौपार्टी, समुद्र, बर्फ की पहाड़ हो या फिर जंगल चारों ओर सुंदर व शांत माहौल बना हुआ है। लंबे पेड़ हो या फिर गहरी खाई, चित्रकारी हो या फिर ऊंची इमारत सभी तरह की सुविधाओं से अमेरिका धरती फल-फूल रहा है। आसमान छूते झूले हो या फिर चमचमाती सड़क सभी तरह की खूबियों से अमेरिका भरा पूरा है। श्री मोहन मदवानी ने चंदन केसरी संवाददाता को बताया कि वे अमेरिका के टेक्सस प्रांत के मलीशा में रहे। यहां की राजधानी आस्टीन है। आस्टीन में विधानसभा भवन में जब वे घूमने गये तो यहां भारतीय होने के नाते उनका जोरदार स्वागत किया गया है। उन्हें विधानसभा व गर्वनर हाउस में भ्रमण कराया गया है। हिन्दू आस्था पर आधारित राधा माधव मंदिर मेंं भारी संख्या में लोग पूजा अर्चना करने आते हैं। अमेरिका ने कोने कोने में इतिहास को संजोकर रखा गया है। सफेद रेत के पहाड़, समुद्र किनारे चौपाटी, झील, झरना स्केटिंग प्वाइंट सभी तरह की सुविधाएं हैं। न्यू मैस्किो में बर्फभारी का एरिया है यहां प्रशासनिक व्यवस्था चुस्त -दुरुस्त है।

समय समय में मौसम यहां बदलते रहता है। मौसम के हिसाब से यहां के घरों का निर्माण किया गया है। यहां के छात्र-छात्राओं ने अध्ययन कर एक गुफा की खोज की है। इस गुफा में घूमने में दो से तीन घंटे का समय लगता है। चारों ओर से प्रकृतिक सौंदर्य से घिरे अमेरिका में लोग सबसे ज्यादा अपने काम को देखते हैं। होली-दीवाली सहित सभी तरह के पर्व को यहां धूमधाम से मनाया जाता है। घंटे दो घंटे में यहां मौसम बदलता है, मौसम विभाग द्वारा जो जानकारी दी जाती है उसका लोग पालन करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post झीरम घाटी नक्सली हमले में शहीदों को एवं पूर्व सांसद ,कवि श्रीकांत वर्मा को दी श्रद्धांजलि
Next post स्वालंबन, सुरक्षा और सम्मान से हुआ महिलाओं का सशक्तिकरण – अमर अग्रवाल
error: Content is protected !!