April 16, 2024

स्वास्थ्य विभाग के अनिल पाण्डेय एवं धनेश प्रताप सिंह के विरूद्ध दर्ज हुई एफआईआर 

अम्बिकापुर.  मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय कार्यालय के चिकित्सा प्रतिपूर्ति शाखा के प्रभारी लिपिक और स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों के बीच विवाद अब थाने पहुंच गया है। मणिपुर थाना से प्राप्त जानकारी अनुसार अनिल पाण्डेय और धनेश प्रताप सिंह एम.पी.डब्ल्यू./सुपरवाईजर द्वारा मणिपुर थाने में पांच हजार रूपये मांगने और नहीं देने पर जान से मारने की धमकी की एफआईआर दर्ज कराई गई जिसमें पुलिस ने धारा 294, 34, 341, 506 के तहत मामला भी दर्ज किया गया। एफआईआर आवेदन पत्र में उल्लेख किया गया है कि कार्यालयीन कार्य से सीएमओ आॅफिस के रास्ते जा रहे आनंद सिंह को अनिल पाण्डेय एवं धनेश प्रताप सिंह अन्य साथियों द्वारा रास्ता रोककर अभद्र व्यवहार करते हुए जान से मारने की धमकी देते हुए 5000@- रूपयों की मांग किया। अनिल कुमार पाण्डेय एवं धनेश प्रताप सिंह जिला चिकित्सालय सिविल सर्जन कार्यालय एवं जिला चिकित्सालय के अधीक्षक कार्यालय में जाकर मेडिकल बिल का प्रभार फार्मासिस्ट को देने हेतु अधिकारियों के उपर दबाव बनाने लगे। सीएमओ कार्यालय के पास खड़े धनेश प्रताप सिंह, एम.पी.डब्ल्यू.@सुपरवाईजर को आनंद सिंह यादव द्वारा कहा गया कि मुझे क्यों परेशान कर रहे हो एवं मेरे विरूद्ध झूठी शिकायत पेपर में देकर क्यों छपवा रहे हो, तब आक्रोशित होकर धनेश सिंह द्वारा मुझे गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी देते हुए एवं फार्मासिस्ट को प्रभार नहीं सौंपने पर निलंबित करने की धमकी दिया गया। जिससे कार्यालयीन एवं अन्य लोगों ने देखा सुना है। अनिल कुमार पाण्डेय एवं धनेश प्रताप सिंह, एम.पी.डब्ल्यू./सुपरवाईजर एवं अन्य साथियों के द्वारा मेरे साथ कभी भी अप्रिय घटना कर सकते हैं। उन लोगों से प्रार्थी तनावग्रस्त एवं भयभीत हैं कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post आलेख : महतारी वंदन योजना : महिलाओं को मिली खुशियों की गारंटी
Next post केरल पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान विश्वविद्यालयमें छात्र की रहस्यमय मौत की गहन जांच करें; आरोपियों को कड़ी सजा सुनिश्चित करे
error: Content is protected !!