May 17, 2024

मंडल रेल आपदा प्रबंधन टीम एवं राष्ट्रीय आपदा मोचन बल द्वारा संयुक्त रूप से मॉक ड्रिल का प्रदर्शन

बिलासपुर स्टेशन यार्ड में ट्रेन दुर्घटना के दौरान की जाने वाली राहत व बचाव कार्य का अभ्यास |

एनडीआरएफ एवं रेलवे टीम के लिए आपदा के समय अनुभव तथा विशेषज्ञता आदान-प्रदान करने और हमेशा सतर्क रहने के लिए किया जाता है यह मॉक ड्रिल

बिलासपुर. आपदा के समय फ्रंट लाइन स्टाफ, रेल आपदा प्रबंधन टीम एवं स्थानीय नागरिक ही बचाव कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसी संदर्भ में रेलवे द्वारा अपने फ्रंट लाइन स्टाफ, रेल आपदा प्रबंधन टीम एवं स्थानीय नागरिकों को ट्रेन में होने वाली संभावित दुर्घटनाओं का प्रदर्शन कर उस आपातकालीन स्थिति में किए जाने वाले राहत व बचाव कार्य से संबंधित तरीकों को अभ्यास के माध्यम से प्रदर्शित करते हुए प्रशिक्षण दिये जाने की नियमित व्यवस्था है । इससे वे दुर्घटना के समय किए जाने वाले बचाव कार्य के तरीकों से अपडेट व अभ्यस्थ रहें व कम से कम समय में कुशलतापूर्वक राहत व बचाव कार्य कर सकें । साथ ही दुर्घटना राहत उपकरणों की कार्य पद्धति एवं रेलवे आपदा प्रबंधन टीम की तत्परता व क्रियाशीलता भी परखी जा सके |
इसी कडी में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर मण्डल द्वारा बिलासपुर स्टेशन के एआरटी साईडिंग में आज दिनांक 15 मई 2024 को प्रातः 10 बजे से सवारी गाड़ी में बम विस्फोट होने के कारण उत्पन्न हुई आपदा से निपटने के लिए किए जाने वाली बचाव व राहत कार्य का प्रदर्शन किया गया ।
यह अभ्यास प्रदर्शन राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की 3री बटालियन मुंडाली (कटक) उडीसा, मंडल संरक्षा विभाग, रेल आपदा प्रबंधन टीम (ART/ARMV) तथा सिविल डिफेंस द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। इस प्रदर्शन में बिलासपुर स्टेशन के ART साईडिंग के पास समर स्पेशल ट्रेन के एक सामान्य कोच में बम विस्फोट होने से यात्रियों की मौत तथा घायल होने तथा कोच में आग लगने की सूचना प्रसारित की गई | साथ ही एक संदिग्ध पार्सल पेकेट देखे जाने की सूचना आरपीएफ़ तथा स्थानीय पुलिस विभाग को दी गई | सूचना मिलते ही आरपीएफ़ तथा स्थानीय पुलिस की टीम दलबल के साथ मौके पर पहुंची तथा डॉग स्क्वाड की सहायता से बम होने की पुष्टि करते हुये इसे डिस्पोज किया | इसके साथ ही दुर्घटना राहत यान एवं दुर्घटना राहत चिकित्सा यान (ART/ARME) के साथ मंडल रेल आपदा प्रबंधन टीम एवं राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) टीम तथा फायर ब्रिगेड की टीम द्वारा घटना स्थल पहुँच कर राहत व बचाव कार्य करने की पूरी प्रक्रिया को दिखाया गया। इस दौरान यह बताया गया कि ऐसी आपातकालीन स्थिति में कैसे पीडितों को सुरक्षित बाहर निकाला जाय एवं उनकी सहायता की जाय । साथ ही आग को बुझाने के विभिन्न तरीकों को भी जीवंत रूप में दिखाया गया। इस अभ्यास प्रदर्शन के माध्यम से किसी भी आपदा की स्थिति से निपटने हेतु राहत एवं बचाव कार्यों की गतिविधियों को भी दिखाया गया। इस दौरान सभी विभागों द्वारा उत्कृष्ट प्रदर्शन किया गया।
अभ्यास प्रदर्शन के दौरान लगाए गए प्राथमिक उपचार केंद्र, पूछताछ केंद्र, सहायता केंद्र व सभी राहत स्टालों का अधिकारियों द्वारा निरीक्षण किया गया |
इसके अलावा रेलवे के अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा उपस्थित नागरिकों को आपदा के समय की जाने वाली राहत व बचाव कार्यों की जानकारी दी गई। साथ ही अपील भी किया गया कि वे आपात स्थिति में लोगों की सहायता कर रेल प्रशासन को सहयोग प्रदान करें। इस अवसर पर स्थानीय मीडिया के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे |
इस संयुक्त अभ्यास प्रदर्शनी में संरक्षा विभाग, NDRF, सिविल डिफ़ेंस, स्काउट-गाइड, सेंट जोन्स ऐंबुलेंस, ART बिलासपुर स्टाफ, RPF, वाणिज्य विभाग, चिकित्सा विभाग सहित सभी विभाग के कर्मचारियों द्वारा विशिष्ट योगदान दिया गया ।
इस अभ्यास प्रदर्शन में मंडल रेल प्रबंधक श्री प्रवीण पाण्डेय, अपर मंडल रेल प्रबंधक श्री योगेश कुमार देवांगन, वरिष्ठ मंडल संरक्षा अधिकारी श्री साकेत रंजन सहित मुख्यालय व मंडल के सभी संबंधित अधिकारी एवं बडी संख्या में स्थानीय नागरिक उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post सुप्रीम कोर्ट की वकील सना रईस खान ने भिवंडी इमारत ढहने के मामले में अपनी योग्यता साबित की
Next post नर्मदा एक्सप्रेस का परिचालन प्रभावित रहेगा
error: Content is protected !!