July 15, 2024

शक्ति चेतना जन जागरण शिविर साइंस कॉलेज मैदान में 

नशामुक्ति और मांस मुक्त समाज बनाने जोर
बिलासपुर। भगवती मानव कल्याण संगठन एक अखिल भारतीय रजिस्टर्ड जनकल्याणकारी आध्यात्मिक संगठन है, जिससे देश-विदेश के करोड़ों लोग जुड़े हुए है। यह संगठन समाज में आपसी भाईचारा बनाने, नशामुक्त मांसाहारमुक्त, चरित्रवान, चेतनावान, पुरूषार्थी एवं परोपकारी समाज का निर्माण करने के साथ ही जाति भेद, छुआछूत, सम्प्रदायिकता जैसी सामाजिक बुराईयों को दूर करके, सभी जाति-धर्म सम्प्रदाय को एकसूत्र में पिरोते हुये समाज के बीच अध्यात्मिक वातावरण निर्मित करके लोगों को मानवता के पथ पर बढ़ाने व कार्य कर रहा है। उपर्युक्त लक्ष्यों की पूर्ति हेतु संगठन समय-समय पर विभिन्न क्षेत्रों में शक्ति चेतना जनजागरण शिविरों एवं यात्राओं का आयोजन करता है। इन आयोजनों में भगवती मानव कल्याण संगठन एवं पंचज्योति शक्त्तितीर्थ सिद्धाश्रम ट्रस्ट के संस्थापक-संचालक धर्मसम्राट् युग चेतना पुरूष सद्गुरूदेव परमहंस योगीराज शक्तिपुत्र महाराज के सान्निध्य में लाखों लोग एक साथ सम्मिलित होते है।
बिलासपुर प्रेस क्लब में पत्रकारों से चर्चा करते हुए भगवती मानव कल्याण संगठन के केन्द्रीय प्रवक्ता रमेश चंद्र मिश्र ने बताया कि पंचज्योति शक्त्तितीर्थ सिद्धाश्रम धाम के प्रताप से 10 एवं 11 फरवरी 2024 को सांइस कॉलेज ग्राउड सरकण्डा बिलासपुर छत्तीसगढ़ में द्विदिवसीय विशाल शक्ति चेतना जन-जागरण शिविर का आयोजन किया गया है। वर्ष 2024 का यह शिविर अतिमहत्वपूर्ण है। क्योंकि सिद्धाश्रम स्थापना के 27 वर्ष पूर्ण हो चुके हैं और ऋषिवर सदगुरूदेव श्री शक्तिपुत्र महाराज की संकल्पित युगपरिवर्तन की यात्रा निरन्तर गतिमान है।  ऋषियों की पुण्यधरा भारत देश को धर्म-अध्यातमक के क्षेत्र में विकासोन्मुख बनाने और मानव जीवन को दिव्यचेतना से परिपूर्ण करने के लिए ऋषिवर श्री शक्तिपुत्र जी महाराज के द्वारा 23 जनवरी 1997 को शुभमुहूर्त में पंचज्योति शक्तितीर्थ सिद्धाश्रम की स्थापना की गई और वहें 15 अप्रैल 1997 से अनन्तकाल के लिए श्री दुर्गा चालीसा अखण्ड पाठ प्रारम्भ कराया गया तथा विगत 27 वर्षों से यह क्रम दिन-रात 24 घंटे अनवरत जारी है। यह शक्ति चेतना जन-जागरण शिविर इसलिए भी अतिमहत्वपूर्ण हो जाता है, क्योंकि देश में
व्याप्त अनीति-अन्याय अधर्म, जातिभेद, छुआछूत, साम्प्रदायिकता, भय-भूख-भ्रष्टाचार समाप्त हो और सत्यधर्म की पुनर्स्थापना हो सके, इस संकल्प को लेकर सद्‌गुरुदेव जी महाराज के सान्निधय में 01 लाख से अधिक धर्मयोद्धा इस शिविर में सामूहिक रूप से माता भगवती आदिशक्ति जगत जननी जगदम्बे की आरती व शंखनाद करेगें, जिसका सम्पूर्ण चराचर जगत् साक्षी बनेगा। निश्चय ही इस शंखनाद की गूँज से एक पवित्र वातावरण निर्मित होकर अनीति अन्याय अधर्ग पर विराम लगना प्रारंभ होगा। इन्हीं लक्ष्यों को लेकर परम पूज्य गुरुवरश्री के द्वारा तीन धाराओं-भगवती मानव कल्याण संगठन पंचज्योति शक्तितीर्थ सिद्धाश्रम और भारतीय चेतना पार्टी को प्रवाह दिया जा रहा है।
 ऋषिवर के आशीर्वाद एवं तीनों धाराओं के अथक प्रयासों का परिणाम है कि अब तक एक करोड़ से अधिक लोगों ने नशे-मांसहार से मुक्त होकर सच्चरित्रता का जीवन धारण करके माता-भगवती आदिशक्ति जगत् जननी की साधना-आराधना को अपने जीवन का अंग बना लिया है, जिससे उनके जीवन में सुख-शांति का प्रादुर्भाव हुआ है। इस भौतिकवादी युग में, जब चारों ओर अनीति-अन्याय-अधर्म व्याप्त है, शीर्ष सत्ता के साथ ही प्रदेश सरकारों ने शराब के करोबार को राजस्व का मुख्य जरिया बना लिया है, जिसके चलते अपराध चरम पर है, मानवता चीख रही है, ऐसी विषम परिस्थिति में ऋपिवर सदगुरूदेव परमहंस योगीराज श्री शक्तिपुत्र जी महाराज, सनातन धर्म व ऋषिपरम्परा को निभाते हुए अपने तप बल, कर्म, वाणी व सरल साधारण धार्मिक नियमों से धर्मरक्षा, राष्ट्ररक्षा एवं मानवीय मूल्यों की स्थापना के लिए संकल्पबद्ध हैं और इस संकल्प को पूरा करने की दिशा में लगभग एक लाख धर्मयोद्धा, आपश्री के शिष्य अपना तन-मन न्यौछावर करने के लिए तत्पर है।इस शक्ति चेतना जन-जागरण शिविर के दो दिवसों में उपस्थित जन समुदाय को जहाँ ऋषिवर सदगुरूदेव श्री शक्तिपुत्र जी महराज के आध्यात्मिक व जनकल्याणकारी चिंतनो को सुनने का सौभाग्य प्राप्त होगा वही, शिविर के द्वितीय दिवस 11 फरवरी 2024 को सुबह 7:00 बजे आपश्री के पावन सानिध्य मे पुरे छत्तीसगढ़ से 20 हजार भक्त एक साथ नशे जैसी बुराई से दूर होकर नशामुक्त, मांसाहार मुक्त, चरित्रवान, चेतनावान, जीवन जीने का संकल्प लेगें। सिद्धाश्रम स्थापना के स्वर्णिम 27 वर्ष पूर्ण होने के बाद यह जो शक्ति चेतना जन-जागरण शिविर बिलासपुर में आयोजित होगा वह निश्चय ही अनीति-अन्याय-अधर्म का पोषण करने वालों के लिए विनाशकारी और सत्यधर्म के अनुयायियों के लिए मंगलकारी सिद्ध होगा। विदित हो कि शिविरों में दिए सद्‌गुरूदेव जी महाराज के चिन्तन, निर्देशन उनके शिष्यों एवं
समाज के लिए प्रेरणास्पद रहे हैं, क्योंकि आपका हर कार्य सत्यधर्म व अध्यात्मिक चेतना की स्थापना, धर्मरक्षा, राष्ट्ररक्षा और मानवता की सेवा के लिए तथा पापाचार में लिप्त मनुष्यों के उद्धार के लिए समर्पित है। आपश्री का मानवता को संदेश है कि “यह मानवजीवन अमूल्य है, इसे व्यर्थ न गवायें। सत्कर्म ही हमें जीवंत बना सकते हैं, जबकि दुष्कर्म जन्म जन्मांतर तक पीड़ा पहुँचाते रहते हैं। आसुरीशक्तियों से घबरायें नहीं, क्योंकि हर युग में असुरत्व का विनाश हुआ है और इस कलिकाल में भी होगा। केवल अपने आत्मशक्ति को जाग्रत् करने की जरूरत है। रमेश चंद्र मिश्र ने आवाहन किया है कि बिलासपुर के पावनधरा पर दिनाँक 10 एवं 11 फरवरी 2024 को साईस कॉलेज ग्राउण्ड सरकण्डा बिलासपुर में आयोजित द्विवसीय शक्ति चेतना जन-जागरण शिविर में शामिल होकर आदिशक्ति जगतजननी जगदम्बे की कृपा और सद्‌गुरुदेव श्री शक्तिपुत्र महराज से कर्ममय सानंद जीवन का आर्शीवाद प्राप्त करें। यह शिविर छत्तीसगढ़ के लिए अत्यंत लाभकारी होगा क्योंकि एक ओर जहाँ नशे का दुष्प्रभाव बढ़ रहा है तो वही दुसरी ओर भगवती मानव कल्याण संगठन अपनी अन्य दो धारायें पंचज्योति शक्तितिर्थ सिद्धाश्रम एवं भारतीय शक्ति चेतना पार्टी के द्वारा लोगो को जागरूक करने का अभियान तीव्र गति से चला रही है इस शिविर में भी लगभग 20 हजार लोग नशा मुक्त होकर समाज में जागृती लाने के लिए अपना अमुल्य योगदान देगें एवं इससे निश्चित रूप से हमारा विश्वास है की छत्तीसगढ़ की वर्तमान दिशा व दशा बेहतर होगी। इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण साधना टी वी चैनल, संतवाणी टी.वी. चैनल, व यूट्यूब चैनल BMKS पर अपराह्न 2 बजे से शाम 5 बजे तक किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post हाईकोर्ट मार्ग में अतिक्रमण के खिलाफ निगम की कार्रवाई 
Next post रामवरप्पाडु स्टेशन में बिलासपुर- तिरुपति एक्सप्रेस का अस्थायी ठहराव की सुविधा
error: Content is protected !!