June 13, 2024

ईमलीपारा व्यापारियों ने विस्थापन एवं स्थाई व्यवस्था को लेकर विधायक अटल श्रीवास्तव से मुलाकात की

व्यापारियों से बातचीत कर स्थाई व्यवस्था कर तोड़ फोड़ की कार्यवाही करनी थी- अटल श्रीवास्तव

बिलासपुर .  ईमलीपारा से पुराना बस स्टैण्ड को जोड़ने वाली सड़क को चैड़ीकरण करने हेतु नगर निगम बिलासपुर द्वारा ईमलीपारा स्थित 86 दुकानों को तोड़ दिया गया न्यायालय के आदेश को आधार बनाकर उक्त कार्यवाही किया जाना बताया जा रहा है। नगर निगम के इस कार्यवाही से पीड़ित व्यापारियों ने आज अपनी समस्या को लेकर कोटा विधायक अटल श्रीवास्तव से उनके वेयर हाउस स्थित निवास पहुंचकर मुलाकात की। व्यापारियों ने विधायक अटल श्रीवास्तव को कोर्ट में हुये निर्णय की जानकारी दी और नगर निगम द्वारा एकतरफा कार्यवाही किये जाने बिना बातचीत बिना विस्थापन एवं भविष्य का प्लान बताये बिना तोड़ना बताया। व्यापारियों ने विधायक से उनके समस्या को लेकर जिला प्रशासन एवं छत्तीसगढ़ शासन से पहल करने का अनुरोध किया व्यपारियों ने यह भी जानकारी दी की व्यापार के बंद होने से व्यापारियों के समक्ष रोजी रोटी की समस्या उत्पन हो गई है, वही व्यवसाय को चलाने के लिए गए लोन को लेकर भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। व्यापारियों ने स्पष्ट रूप से विधायक से यह गोहार लगाई है कि तोड़ फोड़ के समय कोर्ट की आदेश की अवहेलना की गई है। कोर्ट ने व्यापारियों की बसाहट हेतु बातचीत करने के भी निर्देश दिये थे लेकिन चार घंटे के अंदर नगर निगम पुलिस प्रशासन की सहायता लेकर समान खाली करने के मौका दिये बिना दुकानों को तोड़ दिया।
विधायक अटल श्रीवास्तव ने गंभीरता से व्यापारियों की बात सुनी और भविष्य को लेकर उनकी चिंता के पक्ष में जिला प्रशासन एवं छत्तीसगढ़ शासन से बात करने का आश्वासन दिया। अटल श्रीवास्तव ने कहा कि विकास सतत प्रक्रिया है विकास के लिए विनास की तरफ प्रशासन को कदम नहीं उठाना चाहिए कोर्ट के कारण एक लंबा समय प्रशासन को मिला था। प्रशासन को व्यवस्था बनाकर व्यापारियों को विश्वास में लेकर कोई भी कार्यवाही करनी चाहिए थी। आनन फानन में बिना समान खाली करने का मौका दिये दुकान तोड़ने की कार्यवाही चिंतनीय तो है ही उचित निर्णय नहीं है। अटल श्रीवास्तव ने व्यापारियों को कहा कि जिलाधीश बिलासपुर एवं आयुक्त नगर निगम बिलासपुर से सोमवार को बातकर उनकी दोनों मांगो पर कार्यवाही की पहल करेंगे।
1. तत्काल विस्थापन की जगह मुहैया कराकर व्यापारियों की व्यापार चालू कराने की व्यवस्था की जाये।
2. भविष्य में निर्माण होने वाले काॅम्पलेक्स को लेकर व्यापारियों से बातचीत की जाये और सहमति बनाकर जल्द से जल्द उन्हें काम्लेक्स में दुकानों का आवंटन किया जाये जहा वे स्थाई रूप से अपना व्यापार पहले की तरह करने लगे।
अटल श्रीवास्तव ने कहा कि समय रहते जिला प्रशासन एवं छत्तीसगढ़ शासन ने नगर निगम के माध्यम से पहल नहीं कि तो वे व्यापारियों के साथ खड़े होकर उनकी लड़ाईयां लड़ने बाध्य होंगें। अटल श्रीवास्तव ने यह भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी एवं कांग्रेस के शासन में यही अंतर है कि कांग्रेस कोई भी निर्णय लेने से पहले व्यापारियों एवं जनता का हित प्राथमिकता में रखती है, और भारतीय जनता पार्टी की अब नई संस्कृति बुलडोजर संस्कृति हो गई है जिससे व्यापारी एवं जनता में भय व्याप्त हो गया है।
बड़ी संख्या में व्यापारी अटल श्रीवास्तव से मिलने उनके निवास पहुंचे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post विस्फोटक और धमाकेदार ट्रैक है नेहा भसीन का ‘फुरकत’ 
Next post फर्जी पावर ऑफ अटॉर्नी बनवाकर जमीन बेचने की कोशिश
error: Content is protected !!