April 21, 2024

कलेक्टर ने स्कूल शिक्षा विभाग की बैठक लेकर उत्कृष्ट विद्यालयों में व्यवस्था सुधारने के दिए निर्देश

बिलासपुर.कलेक्टर अवनीश शरण ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों एवं उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्यों की समीक्षा बैठक लेकर स्कूलों की अधोसंरचना, परीक्षा परिणाम, शिक्षकों की संख्या, मध्यान्ह भोजन, ड्रॉप आउट बच्चों व स्कूलों में दर्ज संख्या की जानकारी ली। उन्होंने विभाग के अधिकारियों को स्कूलों की सतत निगरानी करने के निर्देश दिए व बेहतर परीक्षा परिणाम के लिए हर संभव प्रयास करने कहा। डीएमएफ से स्कूलों में शौचालय निर्माण के लिए स्वीकृति दी।
मंथन सभा कक्ष में आयोजित बैठक में कलेक्टर अवनीश शरण ने जिले के सभी उत्कृष्ट विद्यालयों की जानकारी ली। स्कूलों में बैठक व्यवस्था, पेयजल, शौचालय, किचन शेड की व्यवस्था, छत की मरम्मत, बिजली व्यवस्था दुरूस्त कराने के निर्देश दिए। शिक्षको की कमी को परीक्षा के उपरांत दूर करने व संविदा भर्ती एवं प्रतिनियुक्ति के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि संविदा शिक्षकों के वेतन भुगतान में विलंब न हो। स्कूलों में प्रयोगशाला, लाईब्रेरी, स्मार्ट बोर्ड, कम्प्यूटर लैब, फर्नीचर की स्थिति की जानकारी लेते हुए स्कूलों में सप्लाई होने वाले सामग्री की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने कहा।
मिड-डे-मिल व्यवस्था की जानकारी लेते हुए उन्होंने कहा कि मिड-डे-मिल महिला समूहों के माध्यम से ही बनवाना सुनिश्चित करें व बच्चों के मिड-डे-मिल में किसी तरह का व्यवधान न आए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे समय-समय पर स्वयं बच्चों के साथ मध्यान भोजन करें, जिससे सकारात्मक संदेश प्रसार होगा। स्कूलोें में थाली की कमी को जन सहयोग के माध्यम से पूरा करने कहा। उन्होंने प्राचार्यो को उत्कृष्ट विद्यालयों के बच्चे बारहवी के बाद क्या कर रहें हैं इसकी जानकारी रखने के भी निर्देश दिए। कलेक्टर ने उत्कृष्ट विद्यालयों के साथ-साथ सामान्य स्कूलो की व्यवस्था पर भी विशेष ध्यान देने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए।
कलेक्टर अवनीश शरण ने अधिकारियों से कहा कि बेहतर शैक्षणिक वातावरण का निर्माण, पाठ्यक्रम को पूरा करना व सरकारी स्कूलों की व्यवस्था को बेहतर करने का दायित्व आपका है जिसे स्वप्रेरणा से किया जाना चाहिए। बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी टीआर साहू, पी दास रथी, डॉ. अजय कौशिक, सहायक संचालक, डॉ. अनिल तिवारी एडीपीओ समग्र, अनुपमा राजवाड़े डीएमसी समग्र, एपीसी रामेश्वर जायसवाल, आनंद पाण्डेय, अमित श्रीवास्तव, बीईओ कोटा विजय टाण्डे, बीईओ तखतपुर जितेन्द्र शुक्ला, सभी ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों के 34 उत्कृष्ट विद्यालयों के प्राचार्य व बीआरसी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post स्मार्ट रोड की तर्ज पर विकसित किया जायेगा सिम्स मार्ग
Next post पीएचई एवं जल संसाधन विभाग के काम-काज की समीक्षा
error: Content is protected !!